होम पेज

लोकप्रिय

बाँध बनाने के फायदे और नुक्सान का आंकलन
क्या भारत में नदी जोड़ो परियोजना सफल होगी ?
गाय, गंगा और गायत्री- सनातन संस्कृति के आधार
1917 समझौते का उल्लंघन क्यों ?
वाराणसी में जलमार्ग निर्माण से नुक्सान
भूजल रिचार्ज से टिहरी बांध को हटाना संभव
गंगा की जीवंतता का सवाल
विलासता की फसलों के लिए गंगा की बर्बादी
गंगा नदी में गाद का जमाव
गंगा जल की आध्यात्मिक शक्ति
कछुवा सेंचुरी में कछुवों के जीवन पर संकट

⚪⚪ ⚪ नवीनतम

कहानी उत्तराखंड में 1985 में शुरू होती है. उस समय गंगा की मुख्य धारा अलकनंदा पर श्रीनगर के पास एक जलविद्युत परियोजना को ...

पशुओं का मनुष्य जीवन में अहम् योगदान है. अगर हम इतिहास से लेकर अब तक देखें तो हम पाते हैं कि मनुष्य नें पशुओं को किसी न ...

भ्रष्ट सरकारी बैंकों के भ्रष्ट कर्मियों के भ्रष्टाचार को जीवित रखने के लिए एनडीए सरकार नें हाल में 80 हज़ार करोड़ रुपये की...

देश की जनता में उत्साह है कि शहरों में प्लास्टिक का इस्तेमाल होना बंद हो रहा है. मान्यता है कि प्लास्टिक पर्यावरण के लिए...

आज भारत दुनिया में सबसे तेज़ी से बढ़ रही अर्थव्यवस्था के रूप में देखा जा रहा है. हमारे इस आर्थिक विकास को देखकर दुनिया द...

दावेस में हुए वर्ल्ड इकोनोमिक फ़ोरम द्वारा एक रिपोर्ट जारी की गयी है, जिसमें विश्व के 180 देशों के पर्यावरण की स्थिति क...

More Articles

और पुराने लेख पढ़ें....: हिंदी

विशेष

श्री लालकृष्ण आडवाणी ने ऋषिकेश में गंगा नदी से आशीष मांगा. इसी तरह गंगा से आशीर्वाद लेने के लिए कई प्रसिद्ध मशहूर हस्तिय...

   भागीरथी इको सेंसिटिव जोन में उत्तरकाशी में विनाशकारी भूस्खलन (फोटो साभार: सुमित राणा) निरंतर बांधों के निर्माण के...

 गंगा नदी के पवित्र जल में स्वयं को शुद्ध रखने की विलक्षण शक्ति होती होती है जिसे बाँध प्रभावित कर रहें है जिस कारण कर...

जब नर्मदा नदी में पानी ही नहीं तो सरदार सरोवर की जरुरत क्यों ? जल संकट का संक्षिप्त विषय गुजरात में पानी का संकट गहर...

  एक तरफ सरकार पंचेश्वर में विस्थापन के वादे कर रही है . दूसरी तरफ 15 साल पुराने बने टिहरी बाँध में लोगों का धरना प्रदर...

कहानी उत्तराखंड में 1985 में शुरू होती है. उस समय गंगा की मुख्य धारा अलकनंदा पर श्रीनगर के पास एक जलविद्युत परियोजना को ...

More Articles

पढ़ें सारे लेख...: हिंदी

ट्विट्टर पर जुडें

फेसबुक पर जुडें

गूगल प्लस से जुडें