होम पेज

लोकप्रिय

गाय, गंगा और गायत्री- सनातन संस्कृति के आधार
बाँध बनाने के फायदे और नुक्सान का आंकलन
क्या भारत में नदी जोड़ो परियोजना सफल होगी ?
1917 समझौते का उल्लंघन क्यों ?
वाराणसी में जलमार्ग निर्माण से नुक्सान
गंगा जल की आध्यात्मिक शक्ति
विलासता की फसलों के लिए गंगा की बर्बादी
गंगा नदी में गाद का जमाव
कछुवा सेंचुरी में कछुवों के जीवन पर संकट
ढुलाई के लिए गंगा की दुर्गति
बिना पानी के गंगा सफाई  निरर्थक है

⚪⚪ ⚪ नवीनतम

पोस्ट: हिंदुस्तान टाइम्स द्वारा डॉ भरत झुनझुनवाला भागलपुर के निकट गंगा को गंगा डॉल्फिन के संरक्षण के लिए वन्यजीव अभ्यार...

  बाँध के नीचे से गाद निकालने के लिए इस प्रकार से फ्लशिंग की जाती है (फोटो साभार: गर्ट रिचर) टिहरी जैसे बाँध उपयुक्त ...

    कुछ विद्वानों का मानना है कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण भविष्य में वर्षा का वितरण कम होगा. उस समय बांधों में रोका गया प...

  विद्युत उत्पादन के लिए सौर ऊर्जा सबसे बेहतर विकल्प है हम सुझाव दे रहें हैं कि पर्यावरण, मत्स्य पालन और सेडीमेंट के ...

  गुजरात में चुनाव का दौर चल रहा हैं और आरोप प्रत्यारोपों का दौर जारी है. गुजरात में मेगा रैलियों का मेगा शो चल रहा है....

  साबरमती पर धरोई बाँध बनने से नदी सूख गयी थी जिसमे कि अब नर्मदा का पानी डाला जा रहा है (फोटो साभार: गुरुप्रसाद) भारत ...

More Articles

और पुराने लेख पढ़ें....: हिंदी

विशेष

“Central Pollution Control Board (CPCB) has inventoried 35 distilleries… out of which… 17 have achieved Zero Liquid Disc...

कुछ फसलों की पैदावार के लिए अत्यधिक पानी की आवश्यकता होती है (फोटो साभार: वेमेंकोव, विकिमीडिया) जिन फसलों को अत्यधिक पा...

  श्रीनगर गढ़वाल में निर्मित अलकनंदा जलविद्युत परियोजना (फोटो साभार: गंगा टुडे टीम) जब हमारे पास श्रीनगर परियोजना क...

अंग्रेज 1917 में हरिद्वार के भीमगौडा में गंगा के ऊपर बाँध निर्माण करना चाह रहे थे जिसके विरोध में मदन मोहन मालवीय जी ने ...

टिहरी झील में गाद

टिहरी डैम के पीछे झील में गाद का भराव (फोटो साभार: विमल भाई) टिहरी झील का गाद से भरने का औसत समय 130 से 171 वर्ष है, तो...

शिपिंग को सक्षम बनाने के लिए अमेरिका में 1930 के दशक में मिसिसिपी नदी पर बैराज की एक श्रृंखला बनायीं गयी है हालांकि, उस ...

More Articles

पढ़ें सारे लेख...: हिंदी

ट्विट्टर पर जुडें

फेसबुक पर जुडें

गूगल प्लस से जुडें