होम पेज

लोकप्रिय

बाँध बनाने के फायदे और नुक्सान का आंकलन
क्या भारत में नदी जोड़ो परियोजना सफल होगी ?
वाराणसी में जलमार्ग निर्माण से नुक्सान
भूजल रिचार्ज से टिहरी बांध को हटाना संभव
गाय, गंगा और गायत्री- सनातन संस्कृति के आधार
1917 समझौते का उल्लंघन क्यों ?
गंगा की जीवंतता का सवाल
विलासता की फसलों के लिए गंगा की बर्बादी
गंगा नदी में गाद का जमाव
गंगा जल की आध्यात्मिक शक्ति
कछुवा सेंचुरी में कछुवों के जीवन पर संकट

⚪⚪ ⚪ नवीनतम

थर्मल और हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर जनरेशन कम्पनियां बड़ी संख्या में दिवालियापन का सामना कर रही हैं. मुख्य कारण यह है कि बढ़...

सरकार के गंगाजी के प्रति उदासीन रुख से क्षुब्ध होकर सानंद स्वामी (डॉ. जी डी अग्रवाल, पूर्व प्रोफेसर आईआईटी कानपुर) 72 दि...

इस समय देश के तमाम क्षेत्रों में बाढ़ का प्रकोप छाया हुआ है. इसका तात्कालिक कारण यह है कि ग्लोबल वार्मिंग के कारण वर्षा क...

श्रीनगर जलविद्युत परियोजना पर मक डंपिंग उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने अवैध मक डंपिंग के कारण उत्तराखंड में दो जल विद्युत ...

गंगाजी   और  पन-बिजली   -   विकास [ यह लेख श्री स्वामी ज्ञान स्वरुप सानंद जी (फॉर्मर प्रोफेसर जी डी अग्रवाल, आई आई टी क...

बाढ़ का स्वागत कीजिये

बरसात में बाढ़ का प्रकोप पर्यावरण का एक स्वाभाविक विषय है. लेकिन प्रतिवर्ष यह बाढ़ विकराल रूप धारण करती जा रही है. केंद्री...

More Articles

और पुराने लेख पढ़ें....: हिंदी

विशेष

सरकार के गंगाजी के प्रति उदासीन रुख से क्षुब्ध होकर सानंद स्वामी (डॉ. जी डी अग्रवाल, पूर्व प्रोफेसर आईआईटी कानपुर) 72 दि...

बाढ़ का स्वागत कीजिये

बरसात में बाढ़ का प्रकोप पर्यावरण का एक स्वाभाविक विषय है. लेकिन प्रतिवर्ष यह बाढ़ विकराल रूप धारण करती जा रही है. केंद्री...

जब नर्मदा नदी में पानी ही नहीं तो सरदार सरोवर की जरुरत क्यों ? जल संकट का संक्षिप्त विषय गुजरात में पानी का संकट गहर...

  NGT को पराली से होने वाला प्रदुषण तो ज्यादा हानिकारक लगता है परन्तु जल विद्युत परियोजनाओं से प्रतिदिन निकलने वाली हान...

सरकार द्वारा “नमामि गंगे” कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसके तीन मुख्य बिंदु हैं. पहला, सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाकर गंदे प...

गंगोत्री में स्थित माँ गंगा का मंदिर (फोटो साभार: जीएनयू डॉक्स.विकिमीडिया)   “His Holinesses welcomes the declaration ...

More Articles

पढ़ें सारे लेख...: हिंदी

ट्विट्टर पर जुडें

फेसबुक पर जुडें

गूगल प्लस से जुडें