होम पेज

लोकप्रिय

बाँध बनाने के फायदे और नुक्सान का आंकलन
क्या भारत में नदी जोड़ो परियोजना सफल होगी ?
गाय, गंगा और गायत्री- सनातन संस्कृति के आधार
1917 समझौते का उल्लंघन क्यों ?
वाराणसी में जलमार्ग निर्माण से नुक्सान
भूजल रिचार्ज से टिहरी बांध को हटाना संभव
गंगा की जीवंतता का सवाल
विलासता की फसलों के लिए गंगा की बर्बादी
गंगा नदी में गाद का जमाव
गंगा जल की आध्यात्मिक शक्ति
कछुवा सेंचुरी में कछुवों के जीवन पर संकट

⚪⚪ ⚪ नवीनतम

स्मार्ट सिटी देहरादून के प्रस्ताव का सुखद पक्ष है कि शहर को एक नोलेज हब के रूप में विकसित किया जाएगा. इसके अंतर्गत साइकि...

कर्नाटक के चुनाव में पानी का मुद्दा छाया हुआ है. बीजेपी तथा कांग्रेस दोनों नें दो बिंदु उठाये हैं. पहला तो यह कि कावेरी ...

सरकार द्वारा “नमामि गंगे” कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसके तीन मुख्य बिंदु हैं. पहला, सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाकर गंदे प...

कहानी उत्तराखंड में 1985 में शुरू होती है. उस समय गंगा की मुख्य धारा अलकनंदा पर श्रीनगर के पास एक जलविद्युत परियोजना को ...

पशुओं का मनुष्य जीवन में अहम् योगदान है. अगर हम इतिहास से लेकर अब तक देखें तो हम पाते हैं कि मनुष्य नें पशुओं को किसी न ...

भ्रष्ट सरकारी बैंकों के भ्रष्ट कर्मियों के भ्रष्टाचार को जीवित रखने के लिए एनडीए सरकार नें हाल में 80 हज़ार करोड़ रुपये की...

More Articles

और पुराने लेख पढ़ें....: हिंदी

विशेष

केदारनाथ आपदा को आये चार साल बीत चुके हैं. लेकिन पहाड़ों का गुस्सा आज भी कम नहीं हुआ है क्योंकि सरकार ने ऐसी दुर्घट...

चित्र 1: अयोध्या में वर्तमान बाबरी मस्जिद व प्रस्तावित राम मंदिर का मॉडल वर्तमान सरकार का एक प्रमुख राजनैतिक मुद्दा अयो...

गुजरात चुनाव को गुजरात के पूर्व मुख्मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा स्थापित विकास मॉडल के परीक्षण के रूप में देखा जा ...

 गंगा नदी के पवित्र जल में स्वयं को शुद्ध रखने की विलक्षण शक्ति होती होती है जिसे बाँध प्रभावित कर रहें है जिस कारण कर...

गंगा नदी के पानी को हुगली में ले जाने के लिए फरक्का बराज बनाइ गई थी . बराज से एक फीडर कनाल द्वारा पानी को हुगली में ले ज...

लेखक - मयूख डे हूगली नदी में यातायात देखा जा सकता है (फोटो साभार: मयुख डे) गंगा के मैदानी क्षेत्र में एक अनोखा प्राण...

More Articles

पढ़ें सारे लेख...: हिंदी

ट्विट्टर पर जुडें

फेसबुक पर जुडें

गूगल प्लस से जुडें