हमारा प्लान


1. जल-विद्युत्

जलविद्युत परियोजनाओं को आंशिक रुकावट बनाकर ही नदी से पानी निकालना चाहिए ताकि मछलियों की धारा-विरुद्ध (upstream) प्रवास और तलछट (sediments) के अनुप्रवाह पर प्रभाव ना पड़े।

ruparel

2. टिहरी

टिहरी बांध को निष्क्रिय कर दिया जाना चाहिए। मानसून के पानी को मैदानी इलाकों में भूजल के रूप में संग्रहित किया जाना चाहिए।

tehri

3. सिंचाई

सिंचाई के लिए पानी का अनुमापी मूल्य निर्धारण किया जाना चाहिए। इस अतिरिक्त बोझ से किसानों को हुए नुक्सान की क्षतिपूर्ति के लिए कृषि उत्पादों की कीमत बढ़ाई जानी चाहिए।

irrigation

4. प्रदूषण

सभी उद्द्योगों में शून्य तरल निर्वहन अनिवार्य होना चाहिए। नगरपालिकाओं को सिंचाई के लिए उपचारित सीवेज-जल का प्रयोग अनिवार्य रूप से करना चाहिए। 

Pollution of Ganga 2

5. फरक्का

गंगा के जल को पुराने हूघली नदी के धार कि तरफ मोड़ने के लिए अंडर-स्लूइस के साथ एक नयी बराज बनाया जाना चाहिए। 

6. सुंदरबन

सुंदरबन में बाढ़-प्रवाह को बनाए रखने कि आवश्यकता है क्यूंकि इससे बालू को गंगासागर कि तरफ धकेला जा सकेगा जिससे कटाव पर नियंत्रण आयेगा। इसके लिए हमें बांग्लादेश के साथ फरक्का संधि पुन: परक्रामण करना पडेगा।

sunderbans


ट्विट्टर पर जुडें

फेसबुक पर जुडें

गूगल प्लस से जुडें